Vivek Vihar Police Station Area Case नाबालिग की बॉडी मिलने से फैली सनसनी:विवेक विहार थाना क्षेत्र का मामला, FSL टीम पहुंची मौके पर

जोधपुर. शहर के विवेक विहार इलाके में सोमवार को रेल पटरियो से कुछ दूरी पर नाबालिग की बॉडी मिलने से सनसनी फैल गई। नग्न हालत में मिली बॉडी का ऊपर का हिस्सा गायब है। प्रारंभिक पड़ताल में पुलिस इसे रेल से गिरकर हादसा होना मान रही है। बॉडी मिलने की सूचना पर पुलिस अधिकारी और एफएसएल टीम भी मौके पर पहुंची। वहीं पुलिस ने बॉडी का ऊपरी हिस्सा ढूंढने के लिए सर्च अभियान भी चलाया है जिससे बॉडी की पहचान की जा सके।

Vivek Vihar Police Station Area Case

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले भी विवेक विहार थाना क्षेत्र में एक बॉडी नाले में मिली थी।
गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले भी विवेक विहार थाना क्षेत्र में एक बॉडी नाले में मिली थी।

पुलिस ने बताया कि सुबह सूचना मिली कि विवेक विहार में सेक्टर के स्थित रेलवे ट्रेक से कुछ दूरी पर एक बच्चे की बॉडी पड़ी है। इस पर विवेक विहार थानाधिकारी दिलीप खदाव वहां पहुंचे। मामला संदिग्ध लगने पर उच्चाधिकारियों को सूचना दी गई। इसके बाद एसीपी बोरानाडा जय प्रकाश अटल आदि वहां पहुंचे। फिलहाल बॉडी की शिनाख्त नहीं हो पाई है।

Vivek Vihar Police Station Area Case

खबरें और भी हैं…

बाड़मेर में बोलेरो ने 6 को कुचला, 3 की मौत:दो युवकों के पैर कटे, गंभीर घायलों में एक 4 साल का बच्चा भी

बोलेरो ने सड़क किनारे चल रही महिलाओं सहित 6 लोगों को रौंद दिया। इसमें 2 महिलाओं सहित 3 की मौत हो गई। 3 लोग गंभीर रूप से घायल हैं। इनमें एक 4 साल का बच्चा भी शामिल है। हादसा बाड़मेर के सिणधरी कस्बे में रविवार शाम करीब साढ़े छह बजे हुआ। पुलिस के अनुसार, सिणधरी कस्बे में शाम करीब 6.30 बजे बेकाबू बोलेरो डिवाइडर पर चढ़ गई थी। बछड़े को टक्कर मारती हुई गाड़ी राह चलते लोगों को कुचल दिया। हादसा इतना भंयकर था कि दो महिलाओं की मौके पर मौत हो गई। एक युवक ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। दो लोगों के पैर कट गए। गनीमत रही कि अनियंत्रित बोलेरो आगे खड़ी कैंपर ट्रॉले से जाकर टकरा गई। वर्ना कई और लोगों की जान जा सकती थी।

हादसे के बाद घायलों को बाड़मेर के सिणधरी हॉस्पिटल लाया गया। प्राथमिक उपचार के बाद यहां से घायलों को रेफर कर दिया गया।
हादसे के बाद घायलों को बाड़मेर के सिणधरी हॉस्पिटल लाया गया। प्राथमिक उपचार के बाद यहां से घायलों को रेफर कर दिया गया।

मरने वालों में अणसीदेवी (45) पत्नी बादराराम और कोकू देवी (43) पत्नी खेताराम निवासी मालपुरा शामिल हैं। बादराराम (50) पुत्र वीराराम निवासी मालपुरा, यशवंत कुमार (25) पुत्र गौतम निवासी उदयपुर के पैर कट गए हैं। जसराज (4) और उसके पिता खेताराम (50) पुत्र राणाराम निवासी मालपुरा, गुडामालानी, बाड़मेर के सिर में गंभीर चोटें आई थीं। नाहटा हॉस्पिटल बालोतरा में इलाज के दौरान खेताराम की मौत हो गई। जसराज सहित तीन अन्य घायलों को जोधपुर रेफर किया गया है। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

जानकारी के मुताबिक, यशंवत कुमार की नौकरी कुछ दिन पहले ही एलडीसी पद पर लगी थी। सिणधरी पंचायत समिति की डंडाली ग्राम पंचायत में वो कार्यरत हैं। वो सिणधरी कस्बे में काम से जा रहे थे कि हादसा हो गया।

हादसा इतना भीषण था कि 2 लोगों के पैर कट गए। बाड़मेर के सिणधरी हॉस्पिटल के इस बेड को देखिए। पैर कटने के कारण इतना खून बहा कि पूरा बेड लाल हो गया।
हादसा इतना भीषण था कि 2 लोगों के पैर कट गए। बाड़मेर के सिणधरी हॉस्पिटल के इस बेड को देखिए। पैर कटने के कारण इतना खून बहा कि पूरा बेड लाल हो गया।

सिणधरी थानाधिकारी सुरेंद कुमार के मुताबिक, शाम को बोलेरो बाड़मेर-जालोर हाईवे की तरफ जा रही थी। इस दौरान गाड़ी अनियंत्रित हो गई और 6 लोगों को रौंद दिया। शवों को सिणधरी अस्पताल में रखवाया गया है। उधर, बोलेरा को जब्त कर लिया गया है। ड्राइवर भागने लगा था, पर पुलिस ने उसे पकड़ लिया।

खबर और भी है पढ़ते रहे हमारे साथ जोधपुर शहर की ताजा खबर

चलती बस में लगी भीषण आग, खिड़कियों से कूदे लोग:जयपुर से नेपाल जा रही थी; 17 लोग सवार थे, मची अफरा-तफरी

चलती स्लीपर कोच बस में अचानक आग लगी तो हड़कंप मच गया। सवारियों चिल्लाने लगीं। जान बचाने के लिए खिड़कियों के कांच तोड़कर कूदने लगीं। हादसा आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर रविवार रात 10.15 बजे ताखा के पास हुआ। बस जयपुर से नेपाल जा रही थी। बस में 17 लोग सवार थे।

दरअसल, बस जयपुर से रविवार दोपहर करीब 1 बजे घाटगेट से रवाना हुई थी। रात करीब 10.15 बजे सभी लोग बस में सो रहे थे। इस दौरान बस में शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। अचानक आग का शोर मचने लगा तो ड्राइवर ने बस रोक दी।

कुछ यात्री खिड़कियों के कांच तोड़कर बाहर कूद गए। वहीं, कुछ गेट की तरफ दौड़े। समय रहते सभी बस से बाहर निकल गए। देखते-देखते पूरी बस जल गई। सूचना पर पहुंची दो दमकलों ने करीब 1 घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

फायर ब्रिगेड की दो गाड़ियां मौके पर पहुंची। एक घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया।
फायर ब्रिगेड की दो गाड़ियां मौके पर पहुंची। एक घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया।

सभी यात्री सुरक्षित

ऊसराहार थानाधिकारी गंगादास गौतम ने बताया कि घटना भरतिया के पास चैनल नंबर 131+500 पर हुई। शुरुआती जांच में ऐसा मालूम होता है कि हीट पकड़ने से बस में आग लगी है। फिलहाल आग पर काबू पा लिया गया है। उन्होंने बताया कि सभी यात्री सुरक्षित हैं। बस में रखा यात्रियों का लाखों का सामान जल गया। सभी यात्रियों को रात में ही दूसरी बस से भेज दिया गया है। गनीमत रही कि हादसे में कोई घायल नहीं हुआ।

आग से बस पूरी तरह से चल गई। बस में रखा सवारियों का सामान भी जल गया।
आग से बस पूरी तरह से चल गई। बस में रखा सवारियों का सामान भी जल गया।

6 महीने नौकरी कर वापस लौट रहे थे

जानकारी मिली है कि रंग बहादुर नाम का व्यक्ति इन सभी 17 लोगों को नेपाल से जयपुर छह माह के लिए लाया था। सभी लोग घरों और फैक्ट्रियों में नौकरी करते थे। छह महीने पूरे होने पर रविवार को रंग बहादुर ने इन्हें फिर से नेपाल भेजा था। कुछ काम होने के कारण रंग बहादुर नेपाल नहीं गया। ये लोग जयपुर में अकेले आते हैं। परिवार नेपाल में ही रहता है। बस के मालिक का नाम सैफुद्दीन कुरैशी है। सैफुद्दीन की स्लीपर बस को ही नेपाल जाने के लिए हायर किया गया था।

गनीमत रही यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाला लिया गया।
गनीमत रही यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाला लिया गया।

बस में लोग फंसे थे, कांच तोड़ रहे थे

लोगों ने बताया कि हाईवे पर बस में भीषण आग लगने की जानकारी मिली तो मौके पर पहुंचे। बस में लोग फंसे थे। कांच तोड़ने की आवाज आ रही थी। तब तक आग तेज नहीं हुई थी। बस में मौजूद लोग बाहर कूद रहे थे। सभी बाहर निकले ही थे कि कुछ देर बार आग ने भीषण रूप ले लिया। दूर से ही आग की तपिश का एहसास होने लगा था।

बस में लगी आग करीब एक किलोमीटर दूर से नजर आ रही थी।
बस में लगी आग करीब एक किलोमीटर दूर से नजर आ रही थी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top