Agnipath Scheme: बवाल के बीच सेना का बड़ा बयान, 48 घंटे में शुरू होगी भर्ती प्रक्रिया, आयु में छूट भी मिलेगी

सार

Agnipath Scheme Protest : बवाल के बीच सेना का बड़ा बयान, 48 घंटे में शुरू होगी भर्ती प्रक्रिया। थल सेना प्रमुख ने कहा कि थल सेना भर्ती के लिए दो दिन में अधिसूचना जारी कर दी जाएगी। वहीं, वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी ने भी दो बड़े एलान किए हैं।

Protests Over Agnipath Scheme Live Updates: अग्निपथ योजना को लेकर युवाओं का प्रदर्शन लगातार तीसरे दिन भी जारी है। Agneepath Scheme के विरोध के बीच थल सेना प्रमुख ने कहा कि थल सेना भर्ती के लिए दो दिन में अधिसूचना जारी कर दी जाएगी। इसकी सारी जानकारी थल सेना के आधिकारिक भर्ती पोर्टल joinindianarmy.nic.in पर मिलेगी। विरोध के बीच, सेना प्रमुख  ने युवाओं से इस स्वर्णिम असवर का लाभ उठाने की अपील की है।

24 जून से शुरू होगी एयरफोर्स में भर्ती प्रक्रिया- वायु सेना प्रमुख

कई राज्यों में जारी बवाल के बीच वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी ने भी दो बड़े एलान किए हैं। उन्होंने कहा, यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि इस साल वायु सेना भर्ती के लिए आयु सीमा को बढ़ाकर 23 वर्ष कर दिया गया है। इससे युवाओं को लाभ होगा। इसके साथ ही एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी ने कहा कि भारतीय वायु सेना के लिए भर्ती प्रक्रिया 24 जून, 2022 से शुरू होगी।

यह भी पढ़ेंAgnipath Scheme: अग्निवीर को चार साल में मिलेंगे 23 लाख से ज्यादा रुपये, सरकारी नौकरियों में छूट भी, जानें सबकुछ

दिसंबर 2022 से शुरू होगा अग्निवीरों का प्रशिक्षण

भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने शुक्रवार को कहा कि पहले अग्निवीरों का प्रशिक्षण दिसंबर 2022 में शुरू होगा और सक्रिय सेवा 2023 के मध्य में शुरू होगी। थल सेना प्रमुख ने कहा कि भर्ती प्रक्रिया जल्द ही शुरू होने जा रही है। अगले दो दिनों के भीतर, आधिकारिक वेबसाइट पर एक अधिसूचना जारी की जाएगी। उसके बाद हमारे सेना भर्ती संगठन पंजीकरण और रैली के…एक विस्तृत कार्यक्रम की घोषणा करेंगे।

कोरोना के कारण दो साल से नहीं हुई भर्ती

उन्होंने कहा, जहां तक भर्ती प्रशिक्षण केंद्रों पर जाने वाले अग्निवीरों का सवाल है, केंद्रों पर इस दिसंबर (2022 में) पहले अग्निवीरों का प्रशिक्षण शुरू हो जाएगा। इनकी सक्रिय सेवा 2023 के मध्य में शुरू होगी। सेना प्रमुख पांडे ने कहा कि विशेष रूप से, कोविड-19 ने सेना की भर्ती को दो साल से अधिक समय तक रोक दिया। 2019-2020 में सेना ने जवानों की भर्ती की और उसके बाद से कोई एंट्री नहीं हुई है। दूसरी ओर, भारतीय नौसेना और भारतीय वायु सेना दोनों ने क्रमशः पिछले दो वर्षों में भर्ती की थी।

गातार हो रहा प्रदर्शन

सशस्त्र बलों में भर्ती के लिए केंद्र सरकार की ‘अग्निपथ’ योजना का हिंसक विरोध गुरुवार को पूरे बिहार में जारी रहा, जिसमें सैकड़ों उम्मीदवारों ने रेल और सड़क यातायात को बाधित किया, जबकि पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे। बुधवार को भी, उम्मीदवारों ने योजना को लेकर मुजफ्फरपुर, बेगूसराय और बक्सर जिलों में विरोध प्रदर्शन किया था।

आयु सीमा 21 साल से बढ़ाकर 23 वर्ष की

सशस्त्र बलों की भर्ती प्रक्रिया में बदलाव लाने के प्रयास में सरकार द्वारा हाल ही में अग्निपथ योजना शुरू की गई थी। नई सैन्य भर्ती योजना को विपक्ष द्वारा विरोध का सामना करना पड़ रहा है, केंद्र ने अग्निवीरों की भर्ती के लिए ऊपरी आयु सीमा में बदलाव लाने का फैसला किया है। एकमुश्त छूट देते हुए, केंद्र ने 16 जून, 2022 को घोषणा की कि अग्निपथ योजना के माध्यम से भर्ती के लिए अग्निवीर की ऊपरी आयु सीमा 21 वर्ष से बढ़ाकर 23 वर्ष कर दी गई है।

प्रदर्शनकारियों की मांग अग्निवीरों को मिले 20-30 फीसदी आरक्षण

‘अग्निपथ’ योजना का विरोध कर रहे एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि अग्निवीर की भर्ती अगले 90 दिनों में शुरू होगी और पहला बैच जुलाई 2023 तक तैयार हो जाएगा। प्रदर्शनकारी ने कहा कि सरकार को चार साल बाद सेवा से बाहर होने पर अन्य नौकरियों में ‘अग्निवीर’ को 20-30 प्रतिशत आरक्षण देना चाहिए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top