12वीं बार बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम:13 दिन में पेट्रोल 8.72 रुपए, डीजल 8.07 रुपए हुआ महंगा, क्रूड ऑयल सस्ता होने के बाद भी बढ़ रही कीमत

12वीं बार बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम:13 दिन में पेट्रोल 8.72 रुपए, डीजल 8.07 रुपए हुआ महंगा, क्रूड ऑयल सस्ता होने के बाद भी बढ़ रही कीमत

12वीं बार बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम
12वीं बार बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव खत्म होने के बाद देश में एक बार फिर महंगाई का दौर शुरू हो गया है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल की घटती कीमतों के बावजूद पेट्रोल डीजल की कीमत हर दिन बढ़ रही है। रविवारको पेट्रोल 88 और डीजल 82 पैसे महंगा हुआ। जिसके बाद जयपुर में 1 लीटर पेट्रोल की कीमत पढ़कर 115 रुपए 83 पैसे पर पहुंच गई। जबकि डीजल प्रति लीटर की कीमत बढ़कर 98 रुपए 88 पैसे पर पहुंच गई है। ऐसे में मार्च महीने के 13 दिन में 12वीं बार बढ़ी कीमतों के बाद पेट्रोल 8 रुपए 72 पैसे और डीजल 8 रुपए 07 पैसे महंगा हो चुका है।

20 रुपए तक बढ़ सकते है दाम

जोधपुर आज के पेट्रोल डीजल के भाव
जोधपुर आज के पेट्रोल डीजल के भाव

राजस्थान पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष सुनीत बगई ने बताया कि भारत के टॉप फ्यूल रिटेलर्स IOC, BPCL और HPCL को नवंबर से मार्च के बीच करीब 2.25 अरब डॉलर (19 हजार करोड़ रुपए) के रेवेन्यू का नुकसान हुआ है। ऐसे में चुनावी सीजन ख़त्म होने के साथ ही अब सरकार रिफाइनरी को नुकसान से बचाने के लिए कीमतें बढ़ाने की अनुमति देगी। ऐसे में अगले कुछ दिनों में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 15 से 20 रुपए तक की बढ़ोतरी हो सकती है। इसके लिए एक साथ बढ़ोतरी ना कर के धीरे-धीरे पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ाए जाएंगे।

कच्चा तेल सस्ता, लेकिन पेट्रोल-डीजल महंगा

कच्चे तेल के दाम फरवरी के अपने 140 डॉलर प्रति बैरल के उच्चतम स्तर से गिरकर 103 डॉलर तक आ चुके हैं, फिर भी पिछले छह दिनों में तेल कंपनियां पांच बार पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ा चुकी है। तेल कंपनियों का रुख देखते हुए यह माना जा रहा है दाम बढ़ने का यह क्रम अगले 15 दिन तक इसी तरह जारी रह सकता है।

कैसे तय होती हैं पेट्रोल-डीजल की कीमतें?

जोधपुर आज के पेट्रोल डीजल के भाव
जोधपुर आज के पेट्रोल डीजल के भाव

जून 2010 तक सरकार पेट्रोल की कीमत निर्धारित करती थी। हर 15 दिन में इसे बदला जाता था। 26 जून 2010 के बाद सरकार ने पेट्रोल की कीमतों का निर्धारण ऑयल कंपनियों के ऊपर छोड़ दिया। इसी तरह अक्टूबर 2014 तक डीजल की कीमत भी सरकार निर्धारित करती थी। 19 अक्टूबर 2014 से सरकार ने ये काम भी ऑयल कंपनियों को सौंप दिया। अभी ऑयल कंपनियां अंतरराष्ट्रीय मार्केट में कच्चे तेल की कीमत, एक्सचेंज रेट, टैक्स, पेट्रोल-डीजल के ट्रांसपोर्टेशन का खर्च और बाकी कई चीजों को ध्यान में रखते हुए रोजाना पेट्रोल-डीजल की कीमत निर्धारित करती हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top